On this website, along with entertainment, you will get news of health, technology, and country and abroad. News posts are available in Hindi and English on our website.

Translate

Breaking

Wednesday, November 16, 2022

women's period , महिलाओं का पीरियड क्या होता है? आइये इस पोस्ट में पीरियड के बारे में जानते हैं।

         पीरियड के बारे में सभी जानते हैं और हर महिला को आता है। फिर भी शर्म नाम के डर की वजह से जागरुकता नहीं है और पीरियड से सम्बंधित कई सवालों के उत्तर लोग खोजते फिरते हैं.


       सबसे पहले तो इस बात को नकारते हैं कि पीरियड या मासिक धर्म के दौरान स्त्री अशुद्ध होती है ऐसा बिल्कुल भी नहीं। जो भी बातें बुजुर्ग आदि करते आये हैं कि किसी महिला का पीरियड लगा है तो वह मंदिर जाने योग्य नहीं है वह घर के शुभ काम को छूने योग्य नहीं है। यह बिल्कुल मिथक है। पीरियड के दौरान महिला अशुद्ध नहीं होती है न उससे कोई संक्रमण होता है न ही कोई न ही वह बीमार होती है और पीरियड कोई बीमारी नहीं है। पीरियड एक चक्र यह जिसके दौर से प्रत्येक महिला गुजरती है अगर महिला का मासिक चक्र ठीक से नहीं होगा तो उससे बच्चे को जन्म देना बहुत ही कठिन हो जाता है।



  पीरियड के समय सम्भोग करना चाहिए? Should you have sex during your period?

     अक्सर लोगों के मन में एक सवाल रहता है कि पीरियड के समय सम्भोग करना ठीक है या नहीं। तो फ्रेंड पीरियड के समय सम्भोग नहीं करना चाहिए। अगर यह पोस्ट आप महिला पढ़ रही हैं तो आपको भी पीरियड के समय सम्भोग नहीं करवाना चाहिए जिसके कुछ कारण हैं।


        पीरियड के समय सम्भोग इसलिए नहीं करना चाहिए। महिला के शरीर से जो खून निकलता है वह खराब खून बोला जाता है जिसमें बहुत गंध आती है। अगर वह ब्लड महिला या पुरुष के किसी जख़्मी हिस्से में जाकर लग गया तो संक्रमण का खतरा बढ जाता है।


      पीरियड के दौरान एक महिला का शरीर वैसे भी दर्द में रहता है, कमजोरी महसूस होती है और उस दौरान भी अगर कोई मर्द या स्त्री सम्भोग का सोचते हैं तो यह बिल्कुल भी गलत है क्योंकि सम्भोग की रूचि कम हो जाती है।


       पीरियड के दौरान सम्भोग इसलिए भी नहीं करना चाहिए तरह तरह के संक्रमण का खतरा बना रहता है। आप अपने आपको सुरक्षित रखें और एक महिला को भी सुरक्षित रखने के बारे में सोचें जिससे महिला या पुरुष को कोई भी योन सम्बंधित समस्या न हो। योन सम्बंधित समस्या अक्सर पीरियड के दौरान सम्भोग करने की वजह से होती हैं जिसके लिए आपको सावधानी बर्तनी चाहिए।


      पीरियड के दौरान सबसे जागरूकता वाली बात यह होनी चाहिए अगर आपके पास पैड खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं तो साफ सुथरा सूती कपड़ा प्रयोग करना बहुत अच्छा रहता है। सरकारी अस्पतालों के द्वारा महिलाओं को निशुल्क पैड उपलब्ध करवाने की सुविधा है। आप अपनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता या आशा बहिन से भी ले सकती हैं। कुछ दिन पहले CSC कॉमन सर्विस सेंटर डिजिटल इंडिया की तरफ से जनसेवा केंद्र संचालको के द्वारा भी फ्री पैड वितरण और जागरूकता अभियान की शुरुआत हुयी है ऐसा सुनने में आया है। 


   पीरियड किन महिलाओं को आता है? Which women get their period?

       पीरियड सायद 10 वर्ष के लगभग से 50 वर्ष तक की प्रत्येक महिला को आता है। हो सकता है किसी महिला को 16 से 17 वर्ष के बाद सुरु होता है किसी महिला को 50 वर्ष के बाद भी मासिक धर्म होता रहता है जबकि किसी महिला का 45 वर्ष के बाद ही पीरियड आने बंद हो जाते हैं।


          पीरियड आने का मतलब होता है कि एक महिला गर्भधारण करने के लिए या सम्भोग के लिए तैयार है। अगर किसी 11 वर्ष की महिला को पीरियड आने सुरु हो जाते हैं तो वह गर्भवती होने के काबिल हो गयी है। यहाँ तक सही है कि वह महिला गर्भवती होने के लायक है। यह सब गलत है कि वह महिला गर्भवती होने के बाद कितनी सुरक्षित है। लोग इसी चक्कर में अभी भी कम उम्र में लड़कियों की शादी कर देते हैं जिसका परिणाम यह होता है कि गर्भपात के दौरान कई नाबालिग लड़कियों की मौत तक हो गयी। अगर मौत नहीं हुयी तो शरीर को बिमारियों ने जकड लिया है। वह महिला कभी भी अपने आपको तंदुरुस्त महसूस नहीं कर पाती है। इसलिए गर्भवती होने की सही उम्र 20 वर्ष के बाद ही सुरु होती है।


         कोई महिला जब गर्भवती होती है तो जबतक बच्चे को जन्म नहीं देती है तबतक के लिए पीरियड नहीं आते हैं। किसी किसी महिला को बच्चा पैदा होने के बाद भी एक दो महीने तक पीरियड नहीं आता है।


       कुछ लोग गर्भवती महिला के साथ भी सम्भोग करते हैं जो बिल्कुल मूर्खता है। गर्भवती महिला के साथ सम्भोग करना सिर्फ पुरुष ही नहीं महिला की भी मूर्खता होती है। गर्भ के दौरान सम्भोग के दौरान महिला में रूचि नहीं होती है। गर्भवती महिला के प्रथम माह से ही सम्भोग नहीं करना चाहिए। गर्भ के दौरान महिला और उसके पेट में पल रहा भ्रूण दोनों को खतरा रहता है। 


          जिस महिला को 17 से 45 वर्ष के बीच में भी मासिक धर्म नहीं होता है ऐसा हो ही नहीं सकता है। पीरियड सभी महिला को होता है हो सकता है किसी किसी महिला को कभी कभार 30 दिन के पहले मासिक धर्म सुरु हो जाता है किसी का 35 दिन के बाद भी होता है। यह एक सामान्य प्रक्रिया कभी कभार स्त्री के बीमार रहने से भी बदल जातीq है लेकिन लगातार यही हो रहा है तो ऐसी महिला को किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह अवश्य लेनी चाहिए।


        अगर किसी महिला को 16 या 17 वर्ष की होने के बाद भी पीरियड आना सुरु नहीं होता है तो यह एक गंभीर विषय हो जाता है। ऐसी महिला की जाँच और डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। हो सकता है अंडकोष, गर्भ आदि में कोई दोष हो।


        अगर किसी महिला का पीरियड ठीक से नहीं होता है तो उसका इलाज और सम्भवता जो भी प्रयोग होते हैं उन्हें करना चाहिए। अगर आप अनदेखा कर रहे हैं तो यह समस्या आपको किसी गंभीरता की तरफ धकेल सकती है।


महिलाओं का पीरियड क्या होता है?  What is a women's period?


      पीरियड एक सामान्य प्रक्रिया है एक महिला जिसके युटेरस के अंदर से ब्लड और ऊतक वजाइना के अंदर से बाहर निकलते हैं जो माह में एक बार यह प्रक्रिया होती है कभी कभार कुछ दिन का अंतर भी हो जाता है। अंडाशय से प्रोजेस्ट्रोन और एस्ट्रोजन बाहर निकलते हैं। यह एक महिला के सेक्स हार्मोन होते हैं जो युटेरिन एंड़ोमेट्रिएम का निर्माण करते हैं जो फर्टीलाइज एग को पोषक तत्व प्रदान करते हैं।


       हार्मोन्स आंव्यूलेशन के दौरान एक ओवरी में से एग को निकालने का काम करते हैं। एग फेलोपियन ट्यूब से होकर गुजरकर युटेरिन लाइनिंग से जुड़ जाता है। यह क्रम पूरा होने में लगभग 28 दिन का वक्त लगता है लेकिन कई महिलाओं के पीरियड के समय में बदलाव की बजह से दिन कम भी हो जाते हैं और बढ़ भी सकते हैं।


        यह पोस्ट पीरियड से संबधित सवालों के लिए थी अगर किसी जबाब में त्रुटि है तो कमेंट बॉक्स में जरुर लिखें। या आपका कोई और सवाल है तब भी पूँछ सकते हैं। पोस्ट में तत्काल बदलाव करके आपके सवाल का जबाब दिया जायेगा।

No comments:

Post a Comment

Total Pageviews

पेज