On this website, along with entertainment, you will get news of health, technology, and country and abroad. News posts are available in Hindi and English on our website.

Translate

Breaking

Monday, January 25, 2021

Pm Kisan Nidhi Yojna के गलत खातों में पैसे जा रहे हैं फर्जी किसान बने हैं बसूली किनसे होगी?

     Pm kisan nidhi ke  अपात्र किसान बनाये किसने और Pm kisan nidhi Yojna  की बसूली किस किस से होगी सम्पूर्ण घोटाला।

   
Pm kisan nidhi recovery किसकी होगी?

   आपके यहाँ भी एक सूचना जरूर प्राप्त हुयी होगी कि pm kisan nidhi का पैसा बसूल किया जायेगा। Pm kisan nidhi का पैसा उन लोगों से बसूल किया जायेगा जो फर्जी किसान बने हुए थे।

Pm kisan nidhi ke liye जमीन के लिए कोई गाइडलाइन नहीं है। आपके पास जमीन होनी चाहिए भले ही 1 एकड़ से कम हो या 20 एकड़ से अधिक हो।

Pm kisan nidhi बसूली की गाइडलाइन।

  • जिन लोगों के पास जमीन नहीं है वह भी pm kisan nidhi का लाभ ले रहे हैं। ऐसे सभी किसानों से pm kisan yojna का पैसा बसूल किया जायेगा।

  • जिन किसानों के नाम जमीन तो है लेकिन उनके नाम जमीन का आदेश 2019 के बाद हुआ है। ऐसे pm kisan nidhi के लाभार्थी से पैसा वसूल किया जायेगा। लेकिन ऐसे किसानों के लिए कुछ गाइडलाइन भी है। अगर किसी किसान के नाम जमीन का आदेश 2019 के बाद हुआ है लेकिन pm kisan samman nidhi yojna का रजिस्ट्रेशन पहले से है। इस तरह के kisan भी अपात्र ही हैं।

  • जो pm kisan nidhi yojna के लाभार्थी सरकारी नौकरी कर रहे हैं और kisan samman nidhi का लाभ ले रहे हैं ऐसे लोग भी pm kisan yojna के लिए अपात्र हैं। इनसे भी pm kisan nidhi की बसूली की जाएगी।

  • जो किसान सरकारी नौकरी करने के बाद पेंशन ले रहे हैं साथ में सम्मान निधि का लाभ ले रहे हैं ऐसे किसान भी pm kisan yojna के लिए अपात्र हैं। बसूली की जाएगी।

  • जो किसान सरकारी नौकरी नहीं करते हैं लेकिन टेक्स पेयर की श्रेणी में आते हैं और साथ में किसान सम्मान निधि का लाभ ले रहे हैं तो ऐसे किसानों भी किसान सम्मान निधि के लिए अपात्र हैं।

  • परिवार में अगर एक से अधिक लोगों को pm kisan nidhi का लाभ ले रहे हैं उनसे भी किसान सम्मान निधि का पैसा बसूल किया जायेगा। सिर्फ एक सदस्य को सम्मान निधि का लाभ दिया जायेगा।
Pm kisan Nidhi के लिए अपात्र लोगों के रजिस्ट्रेशन किये किसने?

      यह सवाल आपका भी होगा और मेरा भी है सायद आपके पास उत्तर न हो हम बताते कि pm kisan nidhi के लिए अपात्र रजिस्ट्रेशन कैसे किये गए?और किसने किये?
अन्य संबंधित पोस्ट पढ़ने के लिए  नीचे दी गयी पोस्ट की लिंक पर क्लिक करें।

पंचायत चुनाव में पैसा पानी की तरह बहाया जाता है। क्या आप भली भांति जानते हैं। Click To Read

ग्राम प्रधान सहायक की भर्ती सरकारी पैसे की बर्बादी के सिवा और कुछ नहीं लगा।।क्लिक करके पढ़ें।  

लोन देने वाले आप गरीबों को फिर से बेघर कर देंगे जिसके आपने कई उदाहरण देखे clickto read

Manrega yojna से रोजगार सेवक ने फर्जी ड्यूटी के दम पर लाखों कमाया। Click To Read


  • 1- लेखपाल - राजस्व लेखपाल को pm kisan nidhi yojna के लिए जाँच करने के बाद ही रेजिस्ट्रेशन करने का प्रोसेस था। लेकिन आजकल आपको पता ही है की सरकारी कर्मचारी कितनी ईमानदारी से काम करते हैं। ठीक वैसा ही pm kisan nidhi रजिस्ट्रेशन के समय हुआ। राजस्व लेखपाल ने बिना जाँच किये kisan samman nidhi रजिस्ट्रेशन करवा दिए।

  • 2- दलाल - यह कोई पोस्ट नहीं होती है न ही सरकारी नौकरी। यह आपको हर सरकारी दफ्तर के आसपास मिल जायेंगे। ऐसे ही दलालों ने जिन किसानों के नाम जमीन नहीं है  सरकारी नौकरी करते हैं आदि जो अपात्र हैं उनके रजिस्ट्रेशन आधे आधे में करवा दिए। आधे आधे का मतलब pm kisan nidhi ki kist में से आधा आपका आधा मेरा।

  • 3- सासन का दबाव - 2019 में राजस्व लेखपाल आदि पर दवाव था चुनाव से पहले अधिक से अधिक किसानों के रजिस्ट्रेशन करो जिससे किसानों को pm kisan nidhi yojna का लाभ चुनाव से पहले मिल सके। इस चक्कर में दफ़्तरों में जमा लोगों दस्तावेज जो किसी अन्य काम के लिए थे उनको भी kisan nidhi yojna के registration में ले लिया गया। यह जानकारी तब पता चली जब एक ऐसे व्यक्ति को kisan nidhi का लाभार्थी देखा जिसके नाम न तो जमीन थी और उसने pm kisan nidhi पाने के लिए कहीं रजिस्ट्रेशन भी नहीं करवाया।

       Kisan samman nidhi के रजिस्ट्रेशन के समय राजस्व लेखपाल ने भी खूब कमाई की। जिसके नाम जमीन है उससे 200 रूपये तक प्रति रजिस्ट्रेशन बसूल किया। जिनके नाम जमीन नहीं थी उनसे तो आधा आधा का हिसाब हुआ ही था।

     नोट- जो pm kisan nidhi के अपात्र हो जायेंगे और बसूली की जाएगी। उनमें से बो लोग सतर्क रहें जिनसे दलाली ली गयी है। आपसे किसी राजस्व लेखपाल ने रिश्वत लेकर फर्जी रजिस्ट्रेशन pm kisan nidhi के लिए किया है आप उनका नाम सरेआम सासान प्रशासन के सामने चिल्लाकर लें ताकि सबको पता चले देश में हो क्या रहा है। आपसे किसी दलाल ने रिश्वत ली है उसके नाम भी सासन प्रशासन के सामने लें सब कुछ उजागर हो सके।

अन्य संबंधित पोस्ट पढ़ने के लिए  नीचे दी गयी पोस्ट की लिंक पर क्लिक करें।

भारत में अधिकतम चुनाव आयोग के हिसाब से नहीं गुंडई और पैसे से जीते जा रहे हैं। Click to Read

इंडिया पोस्ट की डाक सेवा द्वारा अफीमचरसगांजा कुछ भी भेजो क्लिक करके पढ़ें।

Vidhyut sakhi तो बना दीं लेकिन रोजगार के नाम पर सखियों को गांव गांव घुमाकर समस्या का हल तो नहीं मिला Click To Read

आप पैसा खर्चा करके एक नामी कवि बन सकते हैं। जानिए कैसे इस लेख में पूरी जानकारी देंगे।  Click To Read


देश की बिडंबना यह है की फर्जी करवाने में होता तो अधिकारियों का हाथ है। जिन्होंने रिश्वत के जरिये अपात्र लोगों के pm kisan nidhi के लिए अपात्र लोगों के रजिस्ट्रेशन करवाये। Pm kisan nidhi के लाभार्थी होने की सजा आपको मिलेगी। अधिकारियों से रिश्वत की बसूली कैसे सुरु होगी।

किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Saman Nidhi Yojana)
किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Saman Nidhi Yojana)

       जिन लोगों के पास जमीन है उनका पैसा आये या न आये उसपर ध्यान बाद में देना है। सबसे पहले आपको जिनके नाम बिल्कुल भी जमीन नहीं है और ठीक ठाक व्यापार भी चल रहा है उनपर ध्यान देना है । आपको उस व्यक्ति का आधार कार्ड, बैंक पासbook, मोबाइल नम्बर लेना है । दोनों दस्तावेज की फोटो कॉपी ले जाकर उस व्यक्ति को देनी हैं जिसको सरका ने किसानों के पंजीकरन का अधिकार दिया है ।

        वह अधिकारी ब्लॉक में सरकारी खाद बीज गोदाम और मुख्यालय के किसान सम्बंधित ऑफिस में मिल जायेंगे । आप उनको थोड़े रूपए का लालच देकर मना  लें जिस जिस के कागज आपने Pm kisan nidhi  के लिए दिए हैं उनके पैसे कुछ दिन में आने लगेंगे । पैसे आने के लिए आपको Pm kisan nidhi KA Status चेक करते रहना है बेसब्री से इंतजार करते हुए जब भी पहली किस्त आये तो आपको उससे मुनाफा लेते हुए खुशी खुशी में पूरे दो हजार रूपए भी ले लेना है बो दे देगा । उस दो हजार में आपको उस अधिकारी को भी दक्षिणा स्वरुप सौ दो सौ थमा देने हैं । आपने अगर महीने में दस लोगों के काम करवा दिए तो आपका कमसे कम पंद्रह हजार की कमाई हो जाएगी । 

         दूसरा तरीका ये है आप खुद अधिकारी हैं आपको अधिकार दिया गया है पीएम किसान योजना पर काम करने का तो आप अपनी सरकारी तनख्वाह के बाद भी तनख्वाह से ज्यादा कमा सकते हैं । ऐसा करने से आपकी कमाई दो गुनी से भी ज्यादा हो जाएगी । आपको अपने कार्यालय में ही बैठना है जिसका पीएम किसान का पैसा नहीं आ रहा है बो खुद आपके पास चलकर आएगा । अगर उसका पैसा अकाउंट में गड़बड़ी, नाम में गड़बड़ी की वजह से नहीं आ रहा है तो आपको उसका संसोधन करना है । 

Pm kisan nidhi के गलत खातों का सुधार अभी तक सुरु ही नहीं हुआ है। जिसकी वजह से सैकड़ों किसान परेशान हैं।

     Pm kisan nidhi   संसोधन का काम csc केन्द्रो पर दिया गया है वहाँ से केवल नाम के लिए दिया गया है करवा भी लो तो वह अधूरा ही रहेगा । इस वजह से आपको अधिकारी के पास ही जाना है क्योंकि जनसेवा केंद्र का भरोसा नहीं है अधिकारी का पूरा भरोसा है बो कितना भी गड़बड़ कर दे । जब आप अधिकारी से संसोधन करवायेंगे तो आपको दो सौ रूपए तक दक्षिणा स्वरुप देने हैं । बो इसलिए देने हैं उस अधिकारी का सरकारी पेमेंट में काम नहीं चलता है इसलिए एक्स्ट्रा इनकम के लिए आपसे इसारे में मांगता है । अगर आपको किसान रूपए नहीं दे रहा है संसोधन का तो उसके कागज रख लेने हैं और बाद में बिना संसोधन के कचरे के जैसे की हमाये यहाँ हमेशा से होता रहा है। डिब्बे में डाल देने हैं । क्योंकि किसान को आना फिर भी आपके पास ही है अब ऐसा तो है नहीं आपके आलावा जनसेवा केंद्र पर भी संसोधन करवा ले और किसान का पैसा आ जाये । 

   Pm kisan nidhi  की अगर फर्जी किसानों से पैसे की बसूली की जाएगी तो कैसे की जाएगी। आधार नंबर किसी और का है, बैंक खाता किसी और का, कैसा डिजिटल इंडिया है भाई जो किसी अन्य के खाते में लगातार pm kisan nidhi की 7 किस्तें जा चुकी हैं।

अन्य संबंधित पोस्ट पढ़ने के लिए  नीचे दी गयी पोस्ट की लिंक पर क्लिक करें।

भारत की राजनीत में चुनावी हिन्दू बनना बेहद जरुरी है क्याक्लिक करके पढ़ें।

भर्स्ट अधिकारियों की नियत गरीबों के घर तक शुद्ध जल पहुंचने नहीं दे रही Click To Read

ग्राम विकास अधिकारी और ग्राम प्रधान ने प्रधानमंत्री आवास अपात्रों को रिश्वत के जरिये बनवा दिए। Clik To Read

    अगर सरकार उसी किसान से यह कहे कि आप किसान सम्मान निधि के पात्र नहीं हैं आपने जितना भी रुपया फर्जी लिया है उसे बापस करो। आधार कार्ड उसी का है पता भी उसी का है लेकिन उसे रुपया एक भी नहीं मिला है। और सरकार दवाव बना सकती है बापस आप ही करो। जब वह किसान मना करेगा अरे नहीं हमें तो किसान सम्मान निधि ही नहीं मिली। सरकार उसके आधार से डाटा दिखाएगी कि आपको किसान सम्मान निधि मिली है। दोनों के बीच कन्फूजन होंगी तब शासन सोचेगा यार ये तो गड़बड़ हो गयी है अब उस व्यक्ति को ढूंढो जिसके खाते में पैसा गया है।


         एक ऐसा ही स्क्र्रीनशॉट शेयर कर रहा हूं जिसकी किसान सम्मान निधि किसी दूसरे के खाते में जा रही है। अभी तक कोई सुधार नहीं हुआ है। सुधार इसलिए नहीं हुआ है क्योंकि जिसकी किसान सम्मान निधि कि पहली किस्त आ गयी है सही सलामत उसके संसोधन का ऑप्शन ही नहीं है।

Pm kishan samman nidhi ka paisa kisi doosare khate men jaata hua


     फिलहाल आज की ट्रिक में इतना ही अगर कोई बात समझ नहीं आ रही है तो कृपया कमेंट बॉक्स में सवाल पूँछ सकते हैं ।

No comments:

Post a Comment

Total Pageviews

पेज